विट्ठल रुक्मिणी मंदिर पंढरपुर सोलापुर महाराष्ट्र | 360 डिग्री वीडियो

भगवान विष्णु के अवतार बिठोबा और उनकी पत्नी रुक्मिणी के सम्मान में इस शहर में वर्ष में चार बार त्योहार मनाए जाते हैं। मुख्य मंदिर का निर्माण 12वीं शताब्दी में देवगिरी के यादव शासकों द्वारा कराया गया था। यह शहर भक्ति संप्रदाय को समर्पित मराठी कवि संतों की भूमि भी है। विट्ठल , विठोबा , या पाण्डुरंग एक हिन्दू देवता हैं जिनकी पूजा मुख्यतः महाराष्ट्र, कर्नाटक, गोवा, तेलंगाना, तथा आन्ध्र प्रदेश में होती हैं। उन्हें आम तौर पर भगवान विष्णु या उनके अवतार, कृष्ण की अभिव्यक्ति माना जाता हैं। विट्ठल अक्सर एक सावले युवा लड़के के रूप में चित्रित किए जाता है, एक ईंट खडे और दोनो हाथ कमर पर रखे; कभी-कभी उनकी पत्नी रखुमाई भी साथ होती हैं।
विट्ठल की पूजा अधिकतर मराठी लोग करते है, लेकिन वह कुलदेवता के रूप में लोकप्रिय नहीं हैं। पंढरपुर में विट्ठलका मुख्य मंदिर हैं, जिसमें उनकी पत्नी रखुमाई के लिए एक अलग, अतिरिक्त मंदिर भी शामिल हैं। इस संदर्भ में, पंढरपुर को सम्मान से भक्तों द्वारा “भु-वैकुंठ” (पृथ्वी पर विष्णु के निवास की जगह) कहा जाता हैं। महाराष्ट्र, कर्नाटक और तेलंगाना के भक्त, पंढरपुर में विट्ठल मन्दिर मे ज्ञानेश्वर (१३वीं शताब्दी) के समय से आते हैं।
पंढरपुर के मुख्य मंदिर में बड़वा परिवार के ब्राह्मण पुजारी पूजा-विधी करते हैं। इस पूजा में पांच दैनिक संस्कार होते हैं। सबसे पहले, सुबह लगभग 3 बजे, भगवान को जागृत करने के लिए एक आरती है। इसके बाद पंचामृतपुजा होती हैं, जिसमें पंचामृत के साथ स्नान शामिल हैं और मूर्ति को सुबह के भक्तों के लिए तैयार किया जाता हैं। तीसरा संस्कार एक और पूजा है, जिसमें दोपहर का भोजन और मूर्ति फिर से तैयार की जाती हैं। इसे माध्यान्यपूजा के रूप में जाना जाता हैं। चौथा संस्कार दोपहर की भक्ती के बाद सूर्यास्त पर रात का खाना होते है जिसे अपराह्णपूजा कहते हैं। आखरी संस्कार सेज आरती होती है जो रात १० के बाद भगवान को सोने के लिये की जाती हैं।

दर्शन का समय- 
4.00 am – Opening of the gate of Namdev payari.
4.30 am – Kakada bhajan of Vitthal Rukmini.
4.30 am to 5.30 am – Nityapooja
6.00 am – Darshan timing
11.00 am –Mahanaivedya (offering of lunch to Lord)
4.30 pm – Poshakh (clothing of Lord)
6.45 pm – Dhoop arati
Kakada bhajan of Shri Vitthal and Rukmini and Nityapooja 4.30 am to 6.00 am
Mahanaivedya – 11.00 am to 11.15 am
Poshakh- 4.30 pm to 5.00 pm
Dhoop arati – 6.45 pm to 7.00 pm
Shej arati-11.30 pm to 12.00 pm
वेबसाइट : क्लिक
निकटवर्ती शहर : Pandharpur, Solapur
राज्य : Maharashtra
देश : India
पता :
Vitthal Rukmini Mandir Samiti.
Saint Tukaram Bhavan,
(Near Shri Vitthal Mandir)
Pandharpur, Solapur
Maharashtra 413304
फोन : (02186) 2235550, 224466
ईमेल : eotemple@gmail.com