Shreenathji Sri Krishna Temple Manama Bahrain History | श्रीनाथ जी श्रीकृष्ण मंदिर मनामा बहरीन इतिहास

पूरी दुनिया में एक से एक विशाल और प्राचीन मंदिर हैं. ऐसे मदिरों की संख्या इस्लामी देशों में भी कम नहीं है. ऐसे प्राचीन मंदिरों में से एक बहरीन में भी है. जी हां, श्रीनाथ मंदिर, जिसे श्रीकृष्ण मंदिर भी कहा जाता है. ये मंदिर बहरीन की राजधानी मनामा में है. ये मंदिर करीब दो सौ साल पुराना है.
बताया जाता है कि इस मंदिर की स्थापना सन 1817 में की गयी थी. इस मंदिर की स्थापना का श्रेय थट्टाई भाटिया हिंदू परिवार को जाता है, ये समुदाय आज भी इस मंदिर की देखरेख करता है. वैष्णव मत के इस मंदिर के भक्त मूलतः राजस्थान के नाथद्वारा से सम्बन्ध रखते हैं. सन 2018 मंदिर को अन्दर और बाहर से सुधारा गया है. मंदिर का रंग रोगन राजस्थानी मेवाड़ स्टाइल में किया गया है. जैसे की राजस्थान में बड़ी हवेलियों और कोठियों में पारंपरिक रूप से किया जाता है. भक्त भगवान् श्रीनाथ जी मंदिर को भगवान् के घर रूप में ही देखते है, इसलिए इसे हवेली के रूप में संवारा गया है. ये मंदिर भारतीय राजस्थानी कला की एक शानदार नमूना है. जिस क्षेत्र में ये मंदिर है, मनामा का ये इलाका बेहद ही खूबसूरत है. मंदिर का तीन मंजिला ढांचा करीब पैंतालिस हज़ार स्क्वायर फुट इलाके में बना है. मंदिर में हिंदू शादियाँ भी होती हैं. बहरीन का पर्यटन विभाग भी इस मंदिर के विकास के लिए समर्पित है. इस मंदिर में नॉलेज सेंटर और संग्रहालय भी है. मंदिर के बाहर टेम्पल लेन भी बेहद खूबसूरत है. यहाँ पहुँच कर लगता है कि जैसे हम मिनी इंडिया में हैं.

Temple Darshan Timings-
Mangala 06.00 – 06.20 (Aarti 06.10)
Shringar 07.30 – 10.00 Dressed up view
Rajbhog 11.00 – 11.30 (Aarti 11.15) Lunch time view
Utthapan 17.15 – 17.30 (05:15 pm to 05:30 pm) Afternoon View
Shayan 18.15 – 20.00 (06:15 pm to 08:00 pm) (Aarti 18.45 – 06:45 pm) Evening view

Friday & Public Holidays
Shringar 07.30 – 10.15 (Paalna Aarti – 09.45) Dressed view
Rajbhog 11.15 – 12.15 (Aarti – 11.30) Lunch time view
Evening 5.00 Darshan – viewing
Last Darshan / viewing 6.30 pm to 8.00 pm