स्मॉग के चलते भगवान को पहनाए गए मास्क | सिगरा मंदिर वाराणसी | Sigra Temple Varanasi | Benaras


वाराणसी। स्मॉग यानी जहरीली धुंध की चर्चा देश की राजधानी दिल्ली को लेकर ज़्यादा हो रही है… लेकिन बनारस की खबर सुन लेंगे तो आप दंग हो जाएंगे… यहां स्मॉग का प्रभाव भगवान पर भी दिखने लगा है। यहां के सिगरा इलाके के एक मंदिर में भगवान की प्रतिमाओं को भी मास्क पहनाया गया है।
सिगरा के इस मंदिर में बाबा भोलेनाथ, देवी दुर्गा और माता काली समेत साईं बाबा का पूजन कर उन्हें मास्क पहनाया गया है. इसकी वजह ये है कि अत्यधिक बढ़े प्रदूषण से भगवान भी मुक्त रहें।
आपके मन में ये सवाल आया होगा कि आखिर देवी देवताओं की प्रतिमाओं को मास्क पहनाने की जरूरत क्यों पड़ गयी… तो आपको इसकी वजह भी बता देते हैं। दरअसल बनारस में ये परंपरा है कि वहां मंदिरों में मौसम के अनुकूल पूजा और अन्य परंपराओं का चलन है। जैसे कि कई मंदिरों में गर्मी में भगवान को चंदन का लेप लगाने की परंपरा है तो ठंड के दिनों में भगवान को शाल अर्पित की जाती है। ताकि भगवान पर ठंड और गर्मी के प्रतिकूल प्रभाव से परेशानी न हो। धार्मिक आस्था के अतिरिक्त इन परंपराओं की वजह ये भी रही होगी कि लोग मौसम और परिस्थितियों के प्रति जागरूक रहें और अपने परिवार को सुरक्षित रखे। ईश्वर की प्रतिमाओं पर लगे मास्क इस बात की चेतावनी है कि हमें प्रदूषण से बचने के उपाय ज़रूर करने होंगे।