बिना लोहे का होगा अबूधाबी का मंदिर, निर्माण पर शोध करेंगे विदेशी छात्र

आपकी आस्था को बढ़ाने वाली के ख़बर यूएई से है। यहां की राजधानी अबुधाबी में स्वामीनारायण संप्रदाय के हिंदू मंदिर का निर्माण शुरू हो गया। भूमिपूजन के करीब 2 साल बाद गुरुवार को इसकी नींव डाली गई। इस मंदिर की ख़ास बात ये होगी कि इसमें किसी भी तरह के लोहे का इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है। इस मौके पर खलीफा यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर्स भी मौजूद थे। ये छात्रों को मंदिर निर्माण की इस तकनीक पर शोध भी करवाएंगे।

मंदिर समिति के मुताबिक इसे भारत में पारंपरिक मंदिर वास्तुकला के हिसाब से बनाया जाएगा। इसमें लोहे की बजाय फ्लाई-ऐश कंक्रीट का इस्तेमाल किया जा रहा है।
यह नींव मजबूत करेगा, साथ ही मौसमी प्रभाव से भी बचाकर रखेगा। मंदिर में लगने वाले पत्थरों को भारत में अलग-अलग आकारों में काटा जाएगा और बाद में यूएई में एक-दूसरे से जोड़कर मंदिर बनाया जाएगा। बोचासनवासी श्री अक्षर पुरुषोत्तम स्वामीनारायण संस्थान (BAPS) का यह मंदिर तकरीबन 14 एकड़ में बनाया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2018 में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मंदिर की आधारशिला रखी थी। यूएई में करीब 30 लाख भारतीय रहते हैं।
मंदिर समिति के मुताबिक इस मंदिर के लिए भारत में 3,000 से अधिक शिल्पकार जुटे हुए हैं। करीब 5,000 टन इटैलियन कैरारा मार्बल पर नक्काशी की जा रही है। मंदिर का बाहरी हिस्सा करीब 12,250 टन गुलाबी बलुआ पत्थर से बनेगा। जयपुर का हवामहल भी इन्हीं पत्थरों से बना है। कहा जाता है कि इन पत्थरों में भीषण गर्मी झेलने की क्षमता होती है और 50 डिग्री में भी गर्म नहीं होते।

(आधिकारिक वेबसाइट के लिए क्लिक करें।)

Address:

Abu Dhabi BAPS Hindu Mandir
Plot P6, Suwaihan Al Ain Road,
E16 Abu Mureikha,
Abu Dhabi – UAE
Exit 366, Sheikh Maktoum Bin Rashid Road. (E11)
Phone: +971 4 565 7721, +971 50 308 7595
Email : info@mandirltd.com

(नक्शे और रास्ते के लिए नीचे क्लिक करें।)