जयंती शक्तिपीठ मेघालय या बांग्लादेश | Jayanti Shakti Peeth Meghalaya or Bangladesh

इस शक्तिपीठ पर देवी माता सती की बाईं जंघा गिरी थी। यहां देवी माता सती को जयंती और भगवान शिव को क्रमदीश्वर के रूप में पूजा की जाती है। कुछ विद्वान इस स्थान को यह शक्तिपीठ असम के जयंतिया पहाड़ी पर स्थित है, जबकि बहुत से विद्वान् इसको बांग्लादेश में  शिलिंग से 35 किलोमीटर दूर जयंतिया पहाड़ियों पर बौरभाग गाँव में मानते हैं। इस जगह का पुराना नाम बामूर है। स्थानीय लोग इस शक्तिपीठ को फलिजुर कालीबाड़ी के नाम से पुकारते हैं।

जानिये पूरी दुनिया में कितनी शक्तिपीठ हैं और वे किन स्थानों पर हैं.