इन्द्राक्षी शक्तिपीठ नैनातिवु (मणिपल्लवम्) नागपोशनी अम्मन मंदिर नल्लूर जाफना श्रीलंका | Indrakshi Shaktipeeth Nainativu Nallur Jaffna Sri Lanka

देवराज इंद्र ने यहाँ पर आदि शक्ति काली की पूजा की थी। दानव-राज रावण (श्रीलंका के शासक या राजा) और भगवान राम ने भी यहाँ देवी शक्ति की पूजा की हैं। यहाँ देवी सती की पायल (आभूषण) गिरी थी तथा यहाँ देवी! इन्द्राक्षी शक्ति और राक्षसेश्वर, भैरव  के रूप में अवस्थित हैं। नैनातिवु नागापोशनि अम्मन मंदिर एक प्राचीन और ऐतिहासिक हिंदू मंदिर है। यह मंदिर मां पार्वती को समर्पित है, जिन्हें नागपोशनी या भुवनेश्वरी के रूप में हैं। कहा जाता है कि नवीं शताब्दी में आदि शंकराचार्य ने इसे शक्तिरूप में पहचाना। ब्रह्माण्ड पुराण में इसका उल्लेख है। मंदिर परिसर में ऊंचे-ऊंचे चार गोपुरम हैं। 1620 में पुर्तगालियों द्वारा प्राचीन संरचना को नष्ट करने के बाद 1720 से 1790 के दौरान वर्तमान संरचना का निर्माण किया गया था। मंदिर में प्रतिदिन लगभग 1000 आगंतुक आते हैं और त्योहारों के दौरान लगभग 5000 आगंतुक आते हैं।

जानिये पूरी दुनिया में कितनी शक्तिपीठ हैं और वे किन स्थानों पर हैं.