Bhadreshvara My Son Temple Quang Nam Vietnam | भद्रेश्वर मी सान मंदिर परिसर वियतनाम

मी सान वियतनाम के वो मंदिर हैं, जिन्हें चम्पा के राजाओं ने चौथी शताब्दी से १४वीं शताब्दी के बीच बनवाया था. ये मंदिर अब परित्यक्त और आंशिक रूप से ध्वस्त हैं। ये मंदिर शिवमंदिर हैं, जिनमें शिव के विभिन्न स्थानीय नाम से पूजा होती है। इनमें “भद्रेश्वर” प्रमुख हैं।
वियतनाम में ‘माई सन’ या मी सां मंदिरों का निर्माण चम्पा के राजाओं ने चौथी से 14वीं शताब्दी के बीच कराया था। मंदिर परिसर मध्य वियतनाम के क्वांग नाम प्रांत के दुय फू गांव के पास स्थित है। मंदिर परिसर करीब दो किलोमीटर लंबी-चौड़ी घाटी में स्थित है, जो दो पहाड़ों से घिरा हुआ है। मंदिर परिसर करीब दो किलोमीटर लंबी-चौड़ी घाटी में स्थित है जो दो पहाड़ों से घिरा हुआ है।वियतनाम स्थित ‘माई सन मंदिर’ पर हिन्दू प्रभाव है और यहां कृष्ण, विष्णु तथा शिव की मूर्तियां हैं। इनका निर्माण चंपा के राजाओं ने चौथी से 14वीं शताब्दी के बीच कराया था।

जानिए पाकिस्तान के पेशावर के गोरखनाथ मंदिर के बारे में 

वियतनाम का चंपा क्षेत्र प्राचीन काल में हिंदू राज्य और हिंदू धर्म का गढ़ था। यहां स्थानीय समुदाय चम का शासन दूसरी शताब्दी से 18वीं शताब्दी तक रहा था। चम समुदाय में ज्यादातर लोग हिंदू थे, लेकिन आगे चलकर इस समुदाय के कई लोगों ने बौद्ध और इस्लाम धर्म को अपना लिया। वियतनाम वॉर के दौरान एक सप्ताह में ही अमेरिका की बमबारी ने इस परिसर को बड़े पैमाने पर नुकसान पहुंचा था। इस दौरान यह मंदिर परिसर लगभग तबाह हो गया था।